उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षक हुए सम्मानित, शिक्षा दूत के रूप में कर रहे है कार्य…प्रोत्साहित करने चलाई जा रही है योजना

उदय सिंह

मस्तूरी- मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण योजना के तहत विकासखंड के 3 शिक्षकों को शिक्षा दूत के रूप में कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए सम्मानित किया गया है। सितम्बर 2016 से इस योजना को चलाया जा रहा है जो कि शिक्षा विभाग की एक महत्वपूर्ण योजना है शिक्षकों की कार्य शैली के आधार पर शिक्षकों को चयनित किया जाता है उन शिक्षकों को पुरुस्कार के रूप में 5000 रुपये की प्रोत्साहन राशि भेंट की जाती है

शासकीय प्राथमिक शाला किरारी में शिक्षिका के पद पर पदस्थ ज्योति पांडेय, जिनकी सोच ने शिक्षा को एक नई दिशा प्रदान की है शासकीय जर्जर भवन को तोड़ कर ज्योति पांडेय ने अपने स्वयं के पैसे से नये भवन का निर्माण किया साथ ही बच्चों के लिए स्मार्ट क्लास सहित किचन गार्डन भी बनाया जिसके लिए आज उन्हें सम्मानित किया गया, वही सुखी राम गुलस्त, बागवानी और किचन गार्डन को इस तरह से बनाया की आकर्षण का केंद्र बना हुआ है

स्कूल में चल रहे मध्यान भोजन में इसी गार्डन से फ्रेस और ताजी सब्जियां बनती है और बच्चों को कबाड़ के जुगाड़ से अनेक उपयोगी चीजे बनाना शिखाते है। इसी तरह शंकर लाल कैवर्त प्रोजेक्टर के माध्यम से बच्चों को पढा रहे है, शिक्षा का यह माध्यम बच्चों को बहुत पसंद आ रहा है साथ ही डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ रहे है।

error: Content is protected !!